SDM Jyoti Maurya News : नकली मार्कशीट के आधार पर मिली है, सरकारी नौकरी, PCS ज्‍योति मौर्या अब जाएगी जेल।

admin
By admin
sdm-jyoti-maurya-news-नकली-मार्कशीट-के-आधार-प


Jyoti Maurya News: SDM ज्‍योति मौर्य और उनके पति आलोक के बीच हो रही लगातार घरेलु लड़ाई निरंतर बढ़ती जा रही है। दोनों पति पत्नी एक दूसरे पर कई तरह के आरोप लगा रहे है। सबसे पहले एक दूसरे में अविश्‍वास और बेईमानी का आरोप था परन्तु अब इसमें फर्जीवाडे़ का मामला भी बहार आ रहा है

SDM ज्‍यो‍ति मौर्य (Jyoti Maurya) और उनके पति आलोक मौर्य (Alok Maurya) के बीच हो रहे घरेलू विवाद में हर दिन कुछ न कुछ नए मामले बाहर आ रहे हैं। अब पति आलोक मौर्य ने यह इलजाम लगाया हुआ है कि उनकी पत्‍नी SDM ज्‍योति मौर्य ने अपनी सबसे पहली नौकरी धोखा देकर पाई हुई थी। SDM ज्योति मौर्य की पहली नौकरी सरकारी माध्यमिक स्कूल में एक शिक्षिका के रूप में थी। लेकिन SDM ज्योति मौर्य अपनी पहली ही नौकरी पाने के लिए फर्जीवाड़ा का काम किया हुआ था।

sdm jyoti maurya news with alok maurya

उत्तरप्रदेश के बरेली जिले में तैनात SDM ज्योति मौर्य के पति आलोक मौर्य ने मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश को एक पत्र भी लिखा है। और आरोप लगाया हुआ है कि SDM ज्योति मौर्य ने 2011 में होने वाली विशिष्ट BTC शिक्षक भर्ती में गलत तरीके से नकली मार्कशीट को तैयार करके लगाई हुई थी।

बेसिक शिक्षा परिषद की तरफ से कोई जवाब नहीं आया

आलोक मौर्य अपनी पत्नी ज्योति मौर्य के प्रार्थना पत्र के साथ B.Ed की परीक्षा के अंक पत्र की फोटोकॉपी भी लगाई हुई है। इसमें पासिंग दिनांक 25 जून 2012 लिखा हुआ है। बीएड परीक्षा के नकली अंक पत्र की फोटोकॉपी भी है जिसके अन्दर पासिंग डेट 27 जून 2011 लिखा हुआ है। और साथ ही स्कूल के रजिस्टर, बैंक कि पासबुक एवं शपथ पत्र की भी फोटोकॉपी लगाई हुई है। प्रार्थना पत्र के द्वारा मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश से यह मांग की गई है कि SDM ज्योति मौर्य की B.Ed परीक्षा के अंक पत्र की पुनः जांच करते हुए उनके ऊपर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए । परन्तु पति आलोक मौर्य के द्वारा भेजे गए प्रार्थना पत्र का मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा परिषद उत्तरप्रदेश की ओर से अभी तक कोई जवाब नहीं आया है ।

sdm jyoti maury with alok maurya news

अलोक मौर्य ने ज्योति मौर्य का जो शपथ पत्र इकट्ठा किया हुआ है उसमें साफ़ -साफ़ यह लिखा हुआ है कि जांच के दौरान मेरा द्वारा जमा किया गया कोई भी अंकपत्र या प्रमाण पत्र एवं कागजात फर्जी पाया जाता है तो मेरे ऊपर कोई भी कानूनी कार्रवाई पूर्ण रूप से की जा सकती है। और मै इसका मैं विरोध नहीं करूंगी। परन्तु SDM ज्योति मौर्य के B.Ed परीक्षा के प्रमाण पत्र की जांच ही नहीं हुई।

आलोक मौर्या ने बताया की इसके बाद ज्योति मौर्य सलेक्सन सचिवालयमें हुआ था उसके बाद वो कई सारी प्रतियोगी परीक्षाओ में बैठी |

Share This Article
Leave a comment